राजनीति

  • जब दूरियां बढने लगी तो गलतफहमियां भी बढने लगी। फिर उन्होंने वही सुना जो मैंने नहीं कहा - कांग्रेस लीडर कपिल सिब्बल

    टाइम्स खबर timeskhabar.com कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल इन दिनों सुर्खियों में हैं। वजह उन्होंने कांग्रेस पार्टी में व्यापक बदलाव के लिये कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी को पत्र लिखा जिसमें 23 वरिष्ठ नेताओं के हस्ताक्षार हैं। इसको लेकर उनपर आरोप भी लगे कि वे बीजेपी से मिले हुए हैं जिसका उन्होंने जोरदार विरोध किया और कहा कि इतने सालों की राजनीति में मेरे एक भी बयान और कदम बता दें जो बीजेपी के समर्थन में हैं। इस पूरे प्रकरण में पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत की। बातचीत के प्रमुख अंश : कांग्रेस लीडर सिब्बल ने कहा कि 23 नेताओं के हस्ताक्षर वाले पत्र को सीडब्लूसी में नजरअंदाज किया गया। दरअसल राजनीति का संबंध कोई दिन-रात से नहीं होता बल्कि कुछ उद्देश्यों को लेकर होता है। हम कहाँ से आ रहे हैं? एक, हम मानते हैं कि कांग्रेस की विरासत और उसकी ऐतिहासिक भूमिका को संरक्षित रखने की आवश्यकता है और हमें उन मूल्यों के अनुरूप आगे बढ़ना चाहिए, जो कांग्रेसियों ने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान गले लगाए थे। वह वैचारिक पहलू है।

    Read more ...
  • राजस्थान : मुख्यमंत्री गहलोत ने विश्वास मत हासिल किया विधान सभा में और कहा उनकी एकता की विजय है।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com राजस्थान की रेगिस्तान में उठे बवंडर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ध्वनीमत से विश्वास मत हासिल कर लिया है। संसदीय कार्यमंत्री शांतिलाल धारीवाल ने विश्वासमत पेश किया था। जिस पर दोनों पक्षों की ओर से लगभग तीन घंटे बहस हुई। चेयर पर विधान सभा अध्यक्ष डॉ सी पी जोशी थे। इस बहस के दौरान कांग्रेस लीडर व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व को निशाना बनाया और कहा कि वे हर हाल में ठान लिया कि सरकार गिरानी है और मैं भी ठान लिया कि किसी भी कीमत पर सरकार गिरने नहीं दूंगा। उन्होंने बीजेपी पर लगातार हमले किये और कहा कि देश में संविधान के धज्जियां उड़ाई जा रही है। अरूणाचल में बीजेपी ने कांग्रेस के 45 में से 40 विधायक चुरा लिये। मध्य प्रदेश, कर्नाटक, गोवा , मणिपुर में हमारे विधायकों की खरीद फरोख्त हुए। ऐसा ही षडयंत्र यहां किया गया लेकिन वे सफल नहीं हो सके। मेरी सरकार को अस्थिर करने में केंद्रीय मंत्री शामिल रहे। एक ऑडियो में केंद्रीय मंत्री की भूमिका सामने आई।

    Read more ...
  • Bihar-Election बिहार विधानसभा चुनाव इसे टालने में ही समझदारी है : वरिष्ठ पत्रकार उपेन्द्र प्रसाद

    बिहार विधानसभा ( Bihar Vidhansabha) का वर्तमान कार्यकाल समाप्ति की ओर है और नवंबर महीने तक नई विधानसभा के लिए चुनाव हो जाना चाहिए। चुनाव की वहां सरगर्मी भी शुरू है। लेकिन इसी सरगर्मी के बीच वहां कोरोना के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं। यदि दिल्ली और महाराष्ट्र जैसे राज्यों से उनकी तुलना करें, तो वहां अभी भी कोरोना के मामले कम दिख रहे हैं। जाहिर है, कोरोना मामले अभी पीक की और बढ़ ही रहे हैं। प्रतिदिन कोरोना संक्रमण के मामले में 19 जुलाई को तो इसने दिल्ली को भी पीछे छोड़ दिया है। पटना में राजनिवास, मुख्यमंत्री निवास, सचिवालय, भाजपा कार्यालय जैसी जगहों में भी कोरोना पोजिटिव पाए गए हैं। जाहिर है, वहां चुनाव के लिए सही माहौल नहीं है। अभी तो वहां कोविड का प्रकोप कम है। समय के साथ यह बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य का वहां ढांचा बहुत कमजोर है। वह इतना कमजोर है कि हम उसे लगभग अनुपस्थित मान सकते हैं। इसके कारण जो बीमार हैं, उनका सही इलाज नहीं हो पा रहा है। एक मामला तो ऐसा आया कि जो डॉक्टर कोरोना का इलाज कर रहा था और इलाज करते हुए जब खुद संक्रमित हो गया, तो उसको किसी अस्पताल में भर्ती होने के लिए बेड ही नहीं मिल रहा था। चर्चा है कि कोविड अस्पतालों में राजनीतिज्ञ और उनके रिश्तेदार भरे हुए हैं और खुद बीमार डॉक्टरों के लिए बेड का अभाव हो गया है। यह भी खबर आई है कि अनेक अस्पताल ही वहां बंद कर दिए गए हैं, क्योंकि अस्पताल में जरूरी स्टाफ नहीं हैं।

    Read more ...
  • महाराष्ट्र : पेट्रोल-डीजल के बढते मूल्यों के खिलाफ पूर्व केंद्रीय मंत्री पृथ्वीराज चव्हाण के नेतृत्व में प्रदर्शन। उन्होंने बैलगाड़ी चलाकर बीजेपी सरकार के खिलाफ नाराजगी प्रकट की।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com पेट्रोल और डीजल के दामों में लगातार हो रही बढोतरी का कांग्रेस पार्टी ने जोरदार विरोध किया है। देश भर हो रहे आंदोलन के साथ साथ महाराष्ट्र में भी जोरदार और आकर्षित आंदोलन किये जा रहे हैं। बीते दिनों पूर्व केंद्रीय मंत्री पृथ्वी राज चव्हाण के नेतृत्व में कराड में एक मोर्चा निकाला गया और पेट्रोल-डीजल के बढे हुए दाम वापस लेने की मांग की गई। ईंधन की महंगाई को देखते हुए प्रतीकात्मक रूप से बैलगाड़ी की यात्रा निकाली गई और बैलगाड़ी की सवारी खुद पृथ्वीराज चव्हाण ने की। इससे पहले भी कई जिलों में उनके नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन किया गया। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रह चुके पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि पेट्रेल डीजल के दामों में लगातार बढोतरी हो रही है। इसका सीधा प्रभाव किसानों पर पडे़गा। किसानों के साथ साथ आम नागरिक भी परेशान हैं। लेकिन बीजेपी की सरकार को इस बात की कोई चिंता नहीं। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में जहां कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट देखी जा रही है वहीं देश में लगातार पेट्रोल डीजल के दामों में वृद्धि हो रही है। एक्साइज ड्यूटी बढाये जा रहे हैं। आम नागरिक ऐसे हीं कोरोना से परेशान है ऐसे में महंगे पेट्रोल-डीजल आम लोगों के लिये और संकट खड़ा कर देगा

    Read more ...
  • झारखंड : राज्य सभा चुनाव में विजयी हुए झामुमो लीडर गुरूजी।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन एक बार फिर राज्य सभा के लिये चुने गये। गुरूजी के नाम से देशभर में प्रसिद्ध झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन किसी परिचय के मोहताज नहीं है। वे जननेता के साथ-साथ एक क्रांतिकारी नेता रहे हैं। जिन्होंने अपनी अदम साहस और नैतिकता के दम पर सरकार से भी टकराने से पीछे नहीं हटे। हर जुल्म का उन्होंने अपने तरीके से जवाब दिया। अलग झारखंड राज्य बनाने के लिये उनका ऐतिहासिक योगदान है। उनके संघर्ष के बिना इसकी कल्पना तक नहीं की जा सकती थी। शिबू सोरेन को राजनीति की मार्ग से हटाने के लिये कई षडयंत्र रचे गये। उन्हें बदनाम करने की कोशिश की गई लेकिन समय के साथ साथ सब कुछ साफ होता गया और वे अपने रास्ते पर आगे बढते रहे। आज उनकी पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा सत्ता में है। 76 वर्षीय गुरूजी (जन्म 11 जनवरी 1944) की जगह उनके पुत्र हेमंत सोरेन और छोटे पुत्र बसंत सोरेन ने काफी पहले हीं झामुमो को मजबूत करने के लिये सक्रिय हो गये। आज हेमंत सोरेन झारखंड के मुख्यमंत्री हैं। उन्हें कांग्रेस और आरजेडी का समर्थन है। इससे पहले भी गुरूजी और हेमंत सोरेन राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। यानी उनकी पार्टी सत्ता का नेतृत्व कर चुकी है।

    Read more ...
  • अमित शाह के वर्चुअल रैली के खिलाफ आरजेडी ने थाली बजाया। तेजस्वी ने कहा गरीब भूखे हैं और बीजेपी-जेडीयू जश्न मना रही है।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com बिहार में एक तरह से आज विधान सभा चुनाव प्रचार का आगाज हो गया। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कोरोना काल में बीजेपी की वर्चुअल रैली के खिलाफ आज थाली बजाकर विरोध किया। इसमें आरजेडी लीडर व विधान सभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव समेत तमाम आरजेडी कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। बीजेपी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन 10 सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी निवास के बाहर सुबह 11 बजे 11 मिनट तक थाली बजाकर किया गया। इस दौरान कोरोना नियम का भी पालन किया गया।

    Read more ...
  • झारखंड : देश के 12 वें प्रभावशाली व्यक्ति बने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इन दिनों सुर्खियों में हैं। फेम इंडिया मैगजीन और एशिया पोस्ट ने एक सर्वेक्षण के आधार पर उनका नाम देश के 50 प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया है। इन 50 लोगों में भी मुख्यमंत्री सोरेन का नाम 12 वें स्थान पर है। यह झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के लिये एक बड़ी उपलब्धि है। यह उपलब्धि कितनी बड़ी है इसका अंदाजा इसी लगा सकते हैं कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी उनसे पीछे हैं। केजरीवाल 13 वें स्थान पर हैं तो नीतीश कुमार 14 वें स्थान पर। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेने का प्रभावशाली लोगों की सूची में सम्मानजनक स्थान मिलने से झारखंडवासियों में काफी उत्साह है। उन्हें लगातार बधाईयां दी जा रही है। आइये जानते हैं कि टॉप 10 प्रभावशाली हस्तियों में कौन लोग हैं - 1.नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री 2.योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश, 3. अमित शाह, केंद्रीय गृह मंत्री 4. रतन टाटा, उद्योगपति 5. मुकेश अंबानी, उद्योगपति 6. पी विजयन, मुख्यमंत्री केरल 7. श्रीश्री रविशंकर, आर्ट ऑफ लिविंग 8. राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री 9. अजीत डोभाल, एनएसए और 10. नवीन पटनायक, मुख्यमंत्री ओडिशा। दरअसल झामुमो लीडर हेमंत सोरेन को अभी मुख्यमंत्री बने 6 महीने भी नहीं हुए हैं।

    Read more ...
  • टाइम्स खबर timeskhabar.com कोरोना वायरस की वजह से भारत समेत लगभग पूरी दुनिया में लॉकडाउन है। देश की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। श्रमिकों के पास न काम है और न ही पॉकेट में दो जून की रोटी खाने के लिये पैसे। ऐसे मे हा-हा कार मचा हुआ है। इस बीच केंद्र सरकार ने 20 लाख करोड़ रूपये पैकेज का ऐलान किया है। इसको लेकर सवाल किये जा रहे हैं । कोरोनो वायरस महामारी को लेकर हम सभी के पास सरकार से पूछने के लिए कई सवाल हैं। सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि सरकार हमारी अर्थव्यवस्था और आजीविका को बचाने के लिए क्या कर रही है? सरकार प्रवासी संकट से कैसे निपट रही है? सरकार ने हाल ही में 20 लाख करोड़ रुपये का पैकेज पेश किया, क्या ये एक क्रांतिकारी कदम या सिर्फ छलावा? क्विंट के एडिटोरियल डायरेक्टर संजय पुगलिया ने इन सारे सवालों पर पूर्व वित्त मंत्री पी चितंबरम से बातचीत की।

    Read more ...
  • श्रमिको की चीखें सरकार तक पहुंचा के रहेंगे - कांग्रेस लीडर राहुल गांधी।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com कोरोना महामारी के दौरान सबसे अधिक मुसिबतों का सामना करना पड़ रहा है श्रमिकों को। रास्ते में कितने श्रमिकों ने दम तोड़ दिया है इसका कोई हिसाब किताब नहीं। ट्रेनों से कटकर श्रमिकों की मौत हो रही है। भूख से दम तोड रहे हैं। सिर्फ श्रमिक हीं नहीं छोटे छोटे बच्चे और महिलाएं भी परेशान व भारी तकलीफ में हैं। इस स्थिति को लेकर कांग्रेस लीडर राहुल गांधी ने एक मार्मिक वीडियो जारी किया और साथ ही ट्वीट किया कि "अंधकार घना है कठिन घड़ी है, हिम्मत रखिए-हम इन सभी की सुरक्षा में खड़े हैं। सरकार तक इनकी चीखें पहुँचा के रहेंगे, इनके हक़ की हर मदद दिला के रहेंगे। देश की साधारण जनता नहीं, ये तो देश के स्वाभिमान का ध्वज हैं... इसे कभी भी झुकने नहीं देंगे।" कांग्रेस लीडर राहुल गांधी लगातार श्रमिकों की समस्याओं को उठा रहे हैं। आर्थिक पैकेज के घोषणा से पहले 12 मई को राहुल गांधी ने ट्वीट के हवाले से सरकार से आग्रह किया था कि " प्रधानमंत्री जी से मेरा आग्रह है कि आज रात के सम्बोधन में सडकों पर चलते हमारे लाखों श्रमिक भाइयों-बहनों को उनके घरों तक सुरक्षित पहुंचाने की घोषणा करें। इसके साथ ही इस संकट के समय में सहारा देने के लिए उन सभी के खातों में कम से कम 7500 रु का सीधा हस्तांतरण दें।"

    Read more ...
  • लॉकडाउन बढे या नहीं इसको लेकर प्रधानमंत्री ने राज्य के मुख्यमंत्रियो से बातचीत की। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उनकी चुनौती यह है कि गांवों तक संक्रमण न पहुंचे।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com कोरोना वायरस महामारी से बचने के लिये लागू लॉकडाउन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर देश के विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की। प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियों कांफ्रेंसिंग में कहा कि उनकी सबसे बड़ी चुनौती यह है कि कोरोना का संक्रमण गांवों तक न पहुंचे। वहीं लॉकडाउन को लेकर मुख्यमंत्रियों की राय अलग अलग थी। महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, पंजाब और तेलंगाना के मुख्यमंत्री जहां लॉकडाउन बढाने के पक्ष में रहे वहीं तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने कहा कि ट्रेन और विमान सेवा बंद ही रखा जाये। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुंबई में लोकल ट्रेन चलाने की इजाजत देने की मांग की। उन्होंने कहा कि जरूरी सेवाओं के लिये लोकल ट्रेनो का चलना जरूरी है। साथ हीं उन्होंने यह भी कहा कि लॉकडाउन के मामले में निश्चित और ठोस निर्देश दिये जाने चाहिये। उन्होंने आग्रह किया कि अगर जरूरत पड़ी तो राज्य में केंद्रीय बल तैनात किया जाना चाहिये क्योंकि पुलिस भारी दबाव में है। जवान भी संक्रमित हो रहे हैं।

    Read more ...
  •     
City4Net
Political