अर्थ जगत

  • अर्थशास्त्री प्रधानमंत्री के समय अर्थव्यवस्था काफी खराब थी - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

    नई दिल्ली(टाइम्स ख़बर)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वराज्य पत्रिका को दिये इंटरव्यू में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को निशाना बनाया। और कहा कि अर्थशास्त्री प्रधानमंत्री और सब कुछ जानने वाले वित्त् मंत्री पी चितंबरम ने देश की अर्थव्यवस्था को बहुत ही खराब हालत में छोड़ा था जिसे हमारी सरकार ने उबारा है। उन्होने दावा किया कि भारत अब दुनिया की सबसे तेजी से बढने वाली अर्थव्यवस्था है जो विकास के लिय़े बेहद जरूरी है। और इसकी मजबूत बुनियाद इसकी वृद्दि को गति देगी। स्वराज्य पत्रिका को दिए साक्षात्कार में प्रधानमंत्री ने कहा कि जब बीजेपी सरकार सत्ता में आई, अर्थव्यवस्था की स्थिति उम्मीद के विपरीत काफी खराब थी। 'हालात विकट थे। यहां तक कि बजट के आंकड़ों को लेकर भी संदेह था।' मोदी ने कहा कि सरकार में आने के बाद उन्होंने अर्थव्यवस्था की स्थिति पर श्वेत पत्र नहीं लाकर राजनीति के ऊपर राष्ट्रनीति को तवज्जो दी। उन्होंने कहा कि 2014 में अर्थव्यवस्था की स्थिति पर राजनीति करना अत्यंत आसान और राजनीतिक रूप से लाभप्रद था। पर सरकार की सोच थी कि सुधारों की जरूरत है और हमने इंडिया फर्स्ट को तरजीह दी।

    Read more ...
  • देश में किसानों की स्थिति लगातार खराब होती जा रही है।

    नई दिल्ली। देश में किसानों की स्थिति लगातार खराब होती जा रही है। अभी किसानों ने देशभर में अपनी मांगों को लेकर बड़ा आंदोलन किया था। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज किसानों को आश्वस्त करते हुए कहा है कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के उद्देश्य के तहत उनकी सरकार ने कृषि बजट को दोगुना कर 2.12 लाख करोड़ रुपये कर दिया है।

    Read more ...
  • पेट्रोल-डीजल की बढती कीमतों को रोकने के लिये इसे जीएसटी के तहत लाना होगा - परिवहन मंत्री नितिन गडकरी।

    (टाइम्स ख़बर)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में सर्वाधिक योग्य मंत्री के रूप में जाने जाते हैं परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी। उन्होंने कहा कि यदि ईंधन के मूल्यों को जीएसटी (गुडस व सर्विस टैक्स) के तहत लाते हैं तो इससे राज्यों को फायदा होगा। पेट्रोल और डीजल की आसमान छूती कीमतों के बीच उन्होंने कीमतों में वृद्धि को रोकने के लिए ईंधन को जीएसटी के तहत लाने की पुरजोर वकालत की।

    Read more ...
  • कर्नाटक चुनाव संपन्न होते ही पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि।

    नई दिल्ली। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के तुरंत बाद तेल कंपनियों ने ग्राहकों को जोर का झटका दिया है। पेट्रोल-डीजल के दामों में बड़ा इजाफा किया है, जो 56 महीनों में सबसे महंगे स्तर पर जा पहुंचा है। पेट्रोल की कीमत में 17 पैसे जबकि डीजल के मूल्य में 21 पैसे की वृद्धि की गई हैं। वैसे ये कोई पहली बार नहीं है जो चुनावों के बाद ये ट्रेंड देखने को मिल रहा है। दिसम्बर 2017 में सम्पन्न गुजरात चुनावों के बाद भी नजारा कुछ ऐसा ही था। तब से लगातार इसकी कीमतों में इजाफा हो रहा है। कर्नाटक चुनावों से 19 दिन पहले कीमतें बढ़ी थीं, जिस पर चुनाव तक रोक लगा दी गई थी। हालांकि आईओसी की मानना है कि ये संयोग है।

    Read more ...
  • हैदराबाद में वैश्विक उदयमिता सम्मेलन 28 नवंबर से।

    नई दिल्ली। वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन पहली बार दक्षिण एशिया में होने जा रहा है। इसके लिये नीति आयोग हैदराबाद में जोरदार तैयारी में जुट गई है। नीतिआयोग हैदराबाद में अमेरिकी सरकार की भागीदारी के साथ आठवें सालाना वैश्विक उदयमिता सम्मेलन का आयोजन करने जा रहा है। इसमे भारतीय उद्यमियों को भागीदार बनाने, नये प्रोडक्ट व नये सेवाओं के लिये अवसर और नये विचार रखने के मौके मिलेंगे।

    Read more ...
  • पीएम आवास योजना के तहत निजी भूमि पर बने मकान को भी मिलेगी सब्सिडी।

    मुंबई। प्रधानमंत्री आवास योजना को सफल बनाने के लिये तेजी से काम किये जाने लगे हैं। सस्ती आवास योजना को लेकर केंद्र सरकार ने एक नई निजी सार्वजनिक भागिदारी (पीपीपी) नीति की घोषणा की। इस नीति के तहत हर आवास के लिये ढाई लाख रूपये की केंद्रीय सब्सिडी दी जायेगी।

    Read more ...
  • बीएसई और एनएसई में सूचीबद्ध हुए रिलायंस होम फाइनेंस।

    मुंबई। देश के जाने-माने उद्योगपति अनिल अंबानी के नेतृत्व वाले रिलायंस समूह की रिलायंस होम फाइनेंस लिमिटेड (आरएचएफएल) के शेयर को बॉम्बे शेयर बाजार और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज बाजार में सूचीबद्ध किया गया। कंपनी का शेयर 107.2 रूपये पर ओपना हुआ।

    Read more ...
  • देश की अर्थव्यवस्था वन टैक्स के अंतर्गत - जेटली।

    मुंबई। केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा कि वस्तु एवं सेवाकर यानी जीएसटी की नई अप्रत्यक्ष कर प्रणाली उम्मीद से ज्यादा बढिया रहा। देश की अर्थव्यवस्था एकलकर व्यवस्था के तहत आ गई है। उन्होंने इंडियन बैंक्स एसोसिएशन की 70 वीं वर्षगांठ के मौके पर बताया कि केंद्र और राज्य के बीच टॉप लेबल पर निर्णय करने की प्रक्रिया का तार्किक संस्थानीकरण किया गया।

    Read more ...
  • 12 हजार करोड़ का करार मुकेश-अनिल के बीच।

    मुंबई। देश के जाने माने उद्योपति मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी के बीच 12000 करोड़ रुपये का करार हुआ है। 7 जून को हुई इस डील के तहत बड़े भाई मुकेश अंबानी की कंपनी 4-जी सर्विस प्रवाइड करवाने के लिए छोटे भाई अनिल की रिलायंस कम्युनिकेशंस के टावरों का इस्तेमाल करेगी।

    Read more ...
  •     
City4Net
Political