राष्ट्रीय

  • दुबई से केरल आ रहे एयर इंडिया का विमान क्रैश, 14 की मौत।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com केरल के कोझिकोड एंटरनेशनल एयरपोर्ट के निकट एयर इंडिया का विमान क्रैश हो गया। इस हादसे में अभी तक कुल 14 यात्रियों की मृत्यु हो चुकी है। कुल 191 लोग सवार थे। यह विमान दुबई से केरल आ रहा था। बताया जाता है कि विमान रनवे पर फिसल गया और एक घाटी में जा गिरा। कुल 191 लोगों में से पांच क्रू मेंबर, दो पायलट के अलावा सभी यात्री हैं इनमें भी 10 नवजात और 174 लोग व्यस्क नागरिक हैं। इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन से बातचीत की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस लीडर प्रियंका गांधी, पूर्व केंद्रीय मंत्री पृथ्वीराज चव्हाण व एनसीपी नेता शरद पवार समेत तमाम लीडर्स ने शोक व्यक्त किया। बचाव और राहत कार्य जारी है।

    Read more ...
  • श्रीराम मंदिर भूमिपूजन की तैयारियां पूरी। रोशनी और दीये से जगमगा उठा है पूरी अयोध्या नगरी।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com अयोध्या ( Ayodhaya) का वातावरण इन दिनों पूरी तरह राममय है। भक्तिभाव के गूंज है। पूरी अयोध्या नगरी रोशनी से जगमगा उठा है। 5 अगस्त को श्रीराम मंदिर का भूमिपूजन किया जायेगा। इसके लिये धार्मिक पूजा व्यवस्था के साथ साथ सुरक्षा व्यवस्था और कोरोना की वजह से मेडिकल व्यवस्थाएं भी की जा रही हैं। पूरे अयोध्या नगरी को सजाया गया है। सरयू नदी के किनारे के दृश्य अभूतपूर्व हैं। 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी श्रीराम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे। प्रधानमंत्री मोदी तीन घंटे तक अयोध्या में रूकेंगे। वे साढे ग्यारह बजे तक अयोध्या पहुंचेगें और साढे 12 बजे भूमिपूजन में शामिल होंगे। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और योग गुरू बाबा रामदेव भी अयोध्या पहुंच चुके हैं। श्रीराम जन्मभूमि तिर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि मख्य समारोह के लिये 175 प्रतिष्ठित अतिथियों को आमंत्रित किया गया है। इनमें से 135 संत हैं।

    Read more ...
  • फ्रांस से उड़ान भर चुका फाइटर प्लेन राफेल 29 जुलाई को पहुंचेगा भारत।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com फ्रांस का सबसे ताकतवर फाइटर प्लेन राफेल 29 जुलाई को अंबाला (हरियाणा) एयरबेस पहुंच जायेगा। 5 फाइटर प्लेन का पहला खेप भारत के लिये आज (27 जुलाई) को रवाना हो चुका है। यह सफर लगभग 7 हजार किलोमीटर का है। इस बीच 10 घंटे का सफर पुरा कर राफेल टीम संयुक्त अरब अमीरात स्थित फ्रांस के एयरबेस अलधफरा पर उतरेगा। और फिर अगले दिन भारत के लिये उड़ान भरेगा। - भारतीय पायलट राफेल विमान को लेकर भारत आ रहे हैं। उन्होंने फ्रांस में राफेल की पूरी ट्रोनिंग ली। - राफेल भारतीय वायुसेना के 17वें स्क्वाड्रन गोल्डेन-ऐरो का हिस्सा बनेगा। यह राफेल विमान से सुसज्जीत पहला स्क्वाड्रन होगा।

    Read more ...
  • श्रीराम मंदिर : 5 अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी के हाथों अयोध्या में भूमिपूजन संभव ! एनसीपी अध्यक्ष पवार ने कहा मंदिर बनाने से कोरोना नहीं जायेगा। आर्थिक स्थिति पर ध्यान देने की जरूरत।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com अयोध्या ( Ayodhaya)में श्री राम मंदिर ( Ram Mandir) के लिये भूमि पूजन 5 अगस्त को होगा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi) के हाथों। इसके लिये विशेष तैयारियां की जा रही है। प्रधानमंत्री बनने के बाद प्रधानमंत्री मोदी पहली बार अयोध्या जायेंगे। इस बीच देश के पूर्व रक्षा मंत्री व एनसीपी (NCP)अध्यक्ष शरद पवार ( Sharad Pawar) ने राम-मंदिर भूमिपूजन को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि कुछ लोगों को लगता है कि मंदिर बनाने से कोरोना खत्म होगा। एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि सरकार को प्राथमिकताएं तय करनी चाहिये। कोरोना काल है। आर्थिक स्थितियां कमजोर है। इसपर ध्यान देने की जरूरत है। इससे पहले 18 जुलाई को अयोध्या में राम-मंदिर निर्माण से संबंधित मुद्दों पर राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट की दूसरी बैठक हुई थी और आधारशीला रखने के लिये 3 या 5 अगस्त की तारीख का प्रस्ताव रखा गया था। उन्होंने कहा कि कोरोना बहुंत बड़ा संकट है। इसकी वजह से लॉकडाउन है। छोटे बड़े उद्योगों की आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है। राज्य और केंद्र सरकार को इस पर विचार करने की जरूरत है।

    Read more ...
  • संयुक्त राष्ट्र : कोरोना के खिलाफ लड़ाई को हमने जनआंदोलन बना दिया - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com पूरी दुनिया कोरोना के चपेट में है। इस बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र (UN यूनाइटेड नेशन) के आर्थिक और सामाजिक परिषद के हाई लेवल सत्र को संबोधित किया और कहा कि हम सभी प्राकृतिक आपदाओं से लड़ रहे हैं। भारत ने आपदाओंका मुकाबला तेजी और मजबूती से किया है। उन्होंने कहा कि हमने सार्क कोविड इमरजेंसी फंड बनाया। इतना हीं नहीं कोरोना से लड़ाई को हमने जन आंदोलन बनाया। कोरोना पर भारत का रिकवरी रेट दुनिया में सबसे बेहतर है। हमने जनता को कोरोना के खिलाफ लड़ाई से जोड़ा। चुनौतियों से हमें मिल-जुल कर लड़ना होगा। अर्थव्यवस्था को वापस ट्रैक पर लाने के लिए पैकेज लाए। हमने आत्मनिर्भर भारत अभियान चलाया। उन्होंने अपने वर्चुअल संबोधन में कहा कि इस वर्ष हम संयुक्त राष्ट्र की स्थापना की 75 वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। यह संयुक्त राष्ट्र के मानव प्रगति में योगदान के लिए एक अवसर है। यह संयुक्त राष्ट्र की भूमिका और आज की दुनिया में प्रासंगिकता का आकलन करने का एक अवसर है। भारत द्वितीय विश्व युद्ध के तुरंत बाद संयुक्त राष्ट्र के 50 संस्थापक सदस्यों में से था। उसके बाद से काफी बदल गया है। आज संयुक्त राष्ट्र 193 सदस्य देशों को साथ लाता है।

    Read more ...
  • भारत-चीन तनाव : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लेह-लद्दाख पहुंचे। और जांबाजी के लिये देश की सेना की तारीफ की और चीन को संदेश भी दिया।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com भारत-चीन के लद्दाख सीमा स्थित भारी तनाव के बीच प्रधानमंत्री फ्रंट का जायजा लेने और अपने योद्धाओं को मनोबल को बढाने लिये अचानक लेह पहुंचे। उन्होंने चीन का नाम लिये बिना चेतावनी देते हुए कहा कि विस्तारवाद का युग खत्म हो चुका है। ये विकासवाद का युग है। 20वीं शताब्दियों में विस्तारवाद ने हीं मानवता का सबसे ज्यादा नुकसान किया। शांति के लिये खतरा पैदा किया। ऐसी ताकतें मिट गई हैं। गलवान घाटी में भारतीय सेना पर चीनी सेना द्धारा धोखे से किये गये हमले के 18 दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लेह और लद्दाख का दौरा किये। वे लगभग 11 हजार फीड ऊंचाई पर स्थित फॉलवर्ड लोकेशन नीमू पहुंचे। यहां उन्होंने स्थितियों को समझा और सेना, वायु सेना और अर्धसैनिक बल आईटीबीपी के जवानों से बातचीत की और उनका मनोबल बढाया। यहां उन्होंने जवानों को संबोधित करते हुए चीन को चेतावनी के साथ संदेश दिये। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि हमारे भारतीय जवान जिस कठिन परिस्थितियों में देश की हिफाजत करते हैं उसका मुकाबला पूरे विश्व में कोई नहीं कर सकता। आपका साहस उस ऊंचाई से भी ऊंचा है, जहां आप तैनात हैं। आपका निश्चय उस घाटी से भी सख्त है, जिसे आप रोज कदमों से नापते हैं। आपकी इच्छाशक्ति आसपास के पर्वतों जैसी अटल है। डोकलाम में जो झड़प हुए भारत और चीन के सैनिकों के बीच उसे याद करते हुए उन्होंने कहा कि - अभी जो आपने और आपके साथियों ने वीरता दिखाई है, उसने पूरी दुनिया में यह संदेश दिया है कि भारत की ताकत क्या है।

    Read more ...
  • भारत मित्रता निभाने के साथ उचित जवाब देना भी जानता है - प्रधानमंत्री मोदी।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com चीन की छल-कपट की वजह से लद्दाख सीमा पर भारी तनाव है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन का नाम लिये बगैर कहा कि भारत अगर मित्रता निभाना जानता है तो आंख में आंख डालकर उचित जवाब देना भी जानता है। प्रधानमंत्री मोदी ने आकाशवाणी में मन-की-बात पर कहा कि लद्दाख में भारत की भूमि पर आंख उठाकर देखने वालों को करारा जवाब मिला है। उन्होंने कहा कि हमारे वीर सैनिकों ने दिखा दिया है कि वे कभी भी भारत मां की गौरव परआंच आने नहीं देंगे। लद्दाख में जो हमारे जवान शहीद हुए हैं उनके शौर्य को पूरा देश नमन कर रहा है। श्रद्धांजलि दे रहा है। पूरा देश उनका कृतज्ञ है। उनके सामने नतमस्तक है। इन साथियों के परिवारों की तरह हीं हर भारतीय इन्हें खोने का दर्द भी अनुभव कर रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अपने वीर सपूतों के बलिदान पर, उनके परिजनों में जो गर्व की भावना है, देश के लिये जो जज्बा है , यही तो देश की ताकत है। जिनके बेटे शहीद हुए हैं उनके माता-पिता अपने दूसरे बच्चों को भी सेना में भेजने की बात कर रह हैं। संकट चाहे कितना भी बड़ा हो, भारत की संस्कार निस्वार्थ भाव से सेवा की प्रेरणा देता है। भारत ने जिस तरह से मुश्किल समय में दुनिया की मदद की , उसने शांति और विकास में भारत की भूमिका को और मजबूत किया है।

    Read more ...
  • भारत-चीन प्रकरण : प्रधानमंत्री को पूर्व प्रधानमंत्री की बात माननी चाहिये - कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

    लद्दाख के गलवान घाटी में चीन द्धारा किये गये धोखे से हमले को लेकर पूरे देश में आक्रोश है। कांग्रेस पार्टी इस हमले को लेकर लगातार जहां चीन की निंदा कर रही है वहीं केंद्र सरकार पर भी सवाल उठा रही है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इसको लेकर बयान जारी किया है जो निम्नलिखित है। कांग्रेस लीडर राहुल गांधी ने उनके बयान को ट्वीट भी किया। और लिखा कि " पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह जी की महत्वपूर्ण सलाह। भारत की भलाई के लिए, मैं आशा करता हूँ कि PM उनकी बात को विनम्रता से मानेंगे।" पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह का बयान : " 15-16 जून, 2020 को गलवान वैली, लद्दाख में भारत के बीस साहसी जवानों ने सर्वोच्च कुर्बानी दी। इन बहादुर सैनिकों ने साहस के साथ अपना कर्तव्य निभाते हुए देश के लिये अपने प्राण न्यौछावर कर दिये। देश के इन सपूतों ने अपनी अंतिम सांस तक अपनी मातृभूमि की रक्षा की। इस सर्वोच्च त्याग के लिये हम इन साहसी सैनिकों व उनके परिवारों के कृतज्ञ हैं। लेकिन उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिये।

    Read more ...
  • भारत-चीन झड़प : भारत अपनी जमीन की एक एक इंच की रक्षा करेगा। वीर शहीद योद्धाओं पर देश को गर्व है - प्रधानमंत्री मोदी

    टाइम्स खबर timeskhabar.com भारत-चीन के गलवान सीमा पर शहीद हुए 20 भारतीय योद्धाओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रद्धांजलि दी और 2 मिनट का मौन रखा। उन्होंने कोरोना पर मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक में कहा कि हमारे देश के वीर सपूत मारते मरे हैं। वीर शहीद जवानों पर देश को गर्व है। उनका सर्वोच्च बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा। भारत अपनी जमीन की एक-एक इंच की रक्षा करेगा। भारत और चीन के बीच झड़प को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो बातें कहीं वो निम्नलिखित है : - भारत शांति चाहता है लेकिन उकसाने पर हर हाल में जवाब देने में सक्षम हैं। देश की अखंडता और संप्रुभता के साथ किसी तरह का समझौता नहीं किया जायेगा। - शहीदों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। पूरा देश आपके साथ। देश की भावनाएं आपके साथ है। - भारत सांस्कृतिक रूप से शांति प्रिय देश है। हमारा इतिहास शांति का रहा है। भारत की हमेशा यह कोशिश रही है कि मतभेद कभी विवाद न बने।

    Read more ...
  • लद्दाख में भारत और चीनी सेना के बीच झड़प। 20 भारतीय सैनिक शहीद। 40 से अधिक चीनी सैनिक भी हताहत। ग्लोबल खबर globalkhabar.com

    टाइम्स खबर timeskhabar.com चीन की विस्तारवादी मानसिकता की वजह से एक बार फिर भारत और चीन रिश्ते बेहद खतरनाक मोड़ पर आ गया है। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी सीमा पर दोनो देशों के बीच हुए झड़प में भारतीय सेना के 20 सैनिक शहीद हो गये। बड़ी संख्या में लोग घायल हैं। इससे पहले तीन योद्धा के शहीद होने की खबर थी। इस झड़प में 40 से अधिक चीनी सैनिक हताहत हुए है। और कई मार गये। कितने मारे गये हैं इस बारे में अभी पता नहीं चला है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन ने 6 जून को बनी सहमति का पालन नहीं किया और 15 जून की शाम चीनी सेना ने यथास्थिति को बदलने की कोशिश की, जिसको लेकर दोनों पक्षों में झड़प हुआ। केंद्र की मोदी सरकार हालात पर नजर बनाये हुए हैं। इस मामले को लेकर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने एक महत्वपूर्ण बैठक की जिसमें विदेश मंत्री एस जयशंकर के अलावा चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ जनरल बिपिन रावत और तीनों सेना प्रमुखों शामिल थे। बैठकों का सिलसिला जारी है। हालात से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोद को अवगत करा दिया गया है।

    Read more ...
  •     
City4Net
Political