राष्ट्रीय

  • उत्तर प्रदेश : देश की प्रतिष्ठित साइकल फैक्ट्री एटलस बंद। श्रमिक सडकों पर। सपा अध्यक्ष अखिलेश और कांग्रेस लीडर प्रियंका ने सरकार पर उठाये सवाल।

    राजेश कुमार. टाइम्स खबर timeskhabar.com आर्थिक मंदी की मार तेज होने लगी है। 3 मई को विश्व साइकल दिवस मनाया जाता है और इसी दिन उत्तर प्रदेश के साहिबाबाद स्थित साइकल बनाने वाली देश की प्रतिष्ठित कंपनी एटलस ने अपनी फैक्ट्री अनिश्चित काल के लिये बंद कर दी। एक हजार से अधिक लोग एक झटके में बेरोजगार हो गये। इसपर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलश यादव और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि आर्थिक मंदी की वजह से उप्र की प्रसिद्ध एटलस साइकिल कंपनी में ‘उत्पादन बंदी’ की ख़बर बेहद चिंताजनक है। इससे हजारों मज़दूरों के सामने जीविका का संकट खड़ा हो गया है। बेरोज़गारी के इस दौर में ये गरीब अब कहाँ जाएंगे? भाजपा की गलत नीतियों की वजह से अब एक और ‘बंदी’ शुरू। कांग्रेस लीडर प्रियंका गांधी ने भी सरकार को घेरा और कहा कि, “कल विश्व साइकिल दिवस के मौके पर साइकिल कंपनी एटलस की गाजियाबाद फैक्ट्री बंद हो गई। एक हजार से ज्यादा लोग एक झटके में बेरोजगार हो गए। सरकार के प्रचार में तो सुन लिया कि इतने का पैकेज, इतने MoU, इतने रोजगार. लेकिन असल में तो रोजगार खत्म हो रहे हैं, फैक्ट्रियां बंद हो रही हैं।’लोगों की नौकरियाँ बचाने के लिए सरकार को अपनी नीतियाँ और योजना स्पष्ट करनी पड़ेगी। "

    Read more ...
  • लॉकडाउन को सफल बताते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने विश्वास जताया कि कोरोना महामारी के बावजूद हम अपना विकास दर हासिल कर लेंगे।

    उदय चंद्रवंशी, टाइम्स खबर डेस्क timeskhabar.com कोरोना वायरस का हमला, लॉकडाउन और उसके बाद ठप पड गई आर्थिक गतिविधियों को तेज करने की कोशिशें शुरू हो गई है। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ( 2जून) सीआईआई यानी (कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री CII)के सालाना सत्र को संबोधित किया और विश्वास के साथ दावा किया कि कोरोना महामारी से भी निपटेंगे और अपनी विकास दर (ग्रोथ रेट) को भी हासिल करेंग। उन्होंने सीआईआई को संबोधित करते हुए जो बाते कहीं वे निम्नलिखित है : - ये भी इंसान की सबसे बड़ी ताकत होती है कि वो हर मुश्किल से बाहर निकलने का रास्ता बना ही लेता है।आज भी हमें जहां एक तरफ इस Virus से लड़ने के लिए सख्त कदम उठाने हैं वहीं दूसरी तरफ Economy का भी ध्यान रखना है> - हमें एक तरफ देशवासियों का जीवन भी बचाना है तो दूसरी तरफ देश की अर्थव्यवस्था को भी Stabilize करना है, Speed Up करना है। इस Situation में आपने “Getting Growth Back” की बात शुरू की है और निश्चित तौर पर इसके लिए आप सभी, भारतीय उद्योग जगत के लोग बधाई के पात्र हैं। - बल्कि मैं तो Getting Growth Back से आगे बढ़कर ये भी कहूंगा कि Yes ! We will definitely get our growth back.आप लोगों में से कुछ लोग सोच सकते हैं कि संकट की इस घड़ी में, मैं इतने Confidence से ये कैसे बोल सकता हूं? मेरे इस Confidence के कई कारण है।

    Read more ...
  • प्रवासी श्रमिकों को घर तक पहुंचाने के सारे खर्च और जिम्मेदारी राज्य सरकार की - सुप्रीम कोर्ट

    टाइम्स खबर timeskhabar.com लॉकडाउन की वजह से श्रमिकों और उनके परिवारों की स्थिति नाजूक हैं। असहाय लाखों श्रमिक सैकड़ों किलोमीटर दूर पैदल और साइकल से हीं अपने अपने गांवों के लिये निकल पड़े। कईयों ने दम तोड़ा दिया। मासूम बच्चों को पता भी नहीं कि वे जिस मां के आंचल या चादर से खेल रहा है वे जिंदा भी हैं या नहीं। प्रवासी श्रमिकों पर आई मुसिबतों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने पहल की और अहम फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि सिर्फ 3 फीसदी ट्रेनों का इस्तेमाल किया जा रहा है। जबकि प्रवासी श्रमिकों की संख्या लगभग चार करोड़ के आसपास है। वहीं केंद्र सरकार की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि यह अभूतपूर्व संकट है। और सरकार इससे निपटने के लिये अभूतपूर्व कदम उठा रही है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश : - सु्प्रीम कोर्ट ने कहा कि श्रमिकों से बस और ट्रेनों का किराया नहीं लिया जायेगा। - राज्य सरकरों की जिम्मेवारी है कि वे श्रमिकों का किराया दे और घर पहुंचने की व्यवस्था करे। इस कार्य को तीव्रता से करें। - फंसे सभी श्रमिकों को भोजन कराने की व्यवस्था राज्य सरकार द्धारा कराया जाये। उन्हें बस व ट्रेन के समय बताये जायें। उनका व्यवस्थित पंजीकरण हो

    Read more ...
  • ईद की हार्दिक शुभकामनाएं व बधाई !

    टाइम्स खबर timeskhabar.com लॉकडाउन के बीच आज पूरे देश में ईद उल फितर का त्योहार मनाया जा रहा है। कोरोना वायरस की वजह से इस बार सादगी से ही ईद मना रहे हैं। हर संभव कोशिश की जा रही है कि लॉकडाउन नियमों का पालन हो। सोशल मीडिया पर भी एक दूसरे को बधाईयां देने का सिलसिला जारी है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस लीडर राहुल गांधी समेत तमाम लीडर ईद की बधाईयां दे रहे हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद - ईद मुबारक! यह त्योहार प्रेम, शांति और भाईचारे का प्रतीक है। ईद पर हमें समाज के जरूरतमंद लोगों का दर्द बांटने और उनके साथ ख़ुशियाँ साझा करने की प्रेरणा मिलती है। आइए, इस मुबारक मौके पर हम ज़कात की भावना को मजबूत बनाएं और कोविड-19 की रोकथाम के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी - Eid Mubarak!Greetings on Eid-ul-Fitr. May this special occasion further the spirit of compassion, brotherhood and harmony. May everyone be healthy and prosperous. कांग्रेस लीडर राहुल गांधी - आप सभी को ईद मुबारक! Eid Mubarak to each and every one of you.

    Read more ...
  • अम्फान तूफान : हवाई सर्वेक्षण के बाद पश्चिम बंगाल को 1000 करोड़ और ओडिसा को 500 करोड देने का ऐलान। साथ हीं मृतक परिवारों को केद्र की ओर से 2-2 लाख - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

    टाइम्स खबर timeskhabar.com भीषण चक्रवाती तूफान से पश्चिम बंगाल और उड़ीसा को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है। 70 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। साढे पांज हजार से अधिक घर तबाह हो गये। संपत्ति का नुकसान अलग। उड़ीसा में भी अम्फान तूफान ने भारी तबाही मचाई है। इस बीच 22 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल और उड़ीसा का दौर कर समीक्षा की और राहत पैकेज का ऐलान किया। पश्चिम बंगाल का दौरा : - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान से प्रभावित लोगों की मदद और हुए नुकसान का सामना करने के लिये अग्रिम सहायता के तौर पर एक हजार करोड़ रूपये देना का ऐलान किया। इससे पहले उन्होंने पूरे इलाके का हवाई सर्वेक्षण किया। प्रधानमंत्री ने राज्यपाल जगदीप धनखड़, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। हम 70 लोगों की जिंदगी बचा नहीं सके जिसका हमें बहुत ही दुख है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पूरा देश आपके साथ खड़ा है। मृतक के परिवार वालों को मदद के तौर पर केंद्र सरकार की ओर से दो-दो लाख रूपये और घायलों को 50-50 हजार रूपये दिये जायेंगे।

    Read more ...
  • आत्मनिर्भर भारत अभियान : वित्त मंत्री सीतारमण ने ब्रेकअप पैकेज का ऐलान किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इससे प्रवासी श्रमिक और किसानों को लाभ होगा।

    टाइम्स खबर timekhabar.com कोरोना संकट ने भारत समेत पूरे विश्व के लिये संकट खड़ा कर दिया है। इस बीच केंद्रीय वित्त मंत्री सीतारमण ने दूसरे दिन यानी 14 मई को राहत पैकेज के ब्रेक अप को बताया । उन्होंने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्धारा किये गये 20 लाख करोड़ पैकेज के ब्रेक के संदर्भ में विस्तार से बताया। बीते वित्त वर्ष में न्यूनतम मजदूरी 182 रुपए से बढ़कर 202 रुपए किया गया है। उनके इस घोषणा में प्रवासी मजदूर और छोटे छोटे किसान सहित कुल 9 घोषणाएं की जो निम्नलिखित है - प्रवासी श्रमिकों को अगले दो महीने तक मुफ्त राशन : एक अनुमान के मुताबिक लगभग 8 करोड़ प्रवासी श्रमिक हैं। इनके लिये पांच किलो गेंहू या चावल और एक परिवार को 1 किलो चना दिया जायेगा। इस नये प्रबंध के तहत उन्हें भी मुफ्त में अन्नाज दिया जायेगा जो राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत नहीं आते हैं। इसके लिये 3500 करोड़ की व्यवस्था है जो राज्य सरकारो को खर्च करने हैं। दो महीने तक मुफ्त अन्नाज देने की योजना है।

    Read more ...
  • कोरोना प्रकरण : आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत प्रधानमंत्री मोदी ने 20 लाख करोड़ रूपये का ऐलान किया। कहा कुल जीडीपी का लगभग 10 प्रतिशत है।

    टाइम्स खबर डेस्क, timeskhabar.com कोरोना महामारी की वजह से लॉकडाउन और लॉकडाउन की वजह से उत्पन्न आर्थिक संकट को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के 'आत्मनिर्भर भारत अभियान' के तहत 20 लाख करोड़ रूपये पैकेज का ऐलान किया। और कहा कि यह 20 लाख करोड़ रूपये देश के कुल जीडीपी का लगभग 10 प्रतिशत है। उन्होंने अपने संबोधन में यह भी कहा कि देश की वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण इस बारे में चरणबद्ध तरीके से ब्योरा देंगी। इस संकट के दौरान उन्होंने चौथी बार देश को संबोधित किया है। और निम्नलिखित बातें कहीं : अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिये 20 लाख करोड़ : - कोरोना संकट का सामना करते हुए, नए संकल्प के साथ मैं आज एक विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा कर रहा हूं। ये आर्थिक पैकेज, 'आत्मनिर्भर , भारत अभियान' की अहम कड़ी के तौर पर काम करेगा। - हाल में सरकार ने कोरोना संकट से जुड़ी जो आर्थिक घोषणाएं की थीं और जो रिजर्व बैंक के फैसले थे, और आज जिस आर्थिक पैकेज का ऐलान हो रहा है, उसे जोड़ दें तो पूरा पैकेज 20 लाख करोड़ रु का है। ये पैकेज भारत की जीडीपी का करीब-करीब 10 प्रतिशत है।

    Read more ...
  • पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह एम्स में भर्ती ।

    टाइम्स खबर timeskhabar भारत के पूर्व प्रधानमंत्री व कांग्रेस लीडर मनमोहन सिंह को दिल्ली के एम्मस होस्पिटल में भर्ती कराया गया 10 मई की रात 8 बजकर 45 मिनट पर। कहा जा रहा है कि उन्हें कुछ नई दवाइयां दी गई थी जसकी वजह से उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्हें सीने में दर्द की शिकायत क बाद दिल्ली के एम्स होस्पिटल में भर्ती कराया गया। उनकी स्थिति अभी स्थिर है और जांच का सिलसिला जारी है। 87 वर्षीय पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की देखरेख के लिये डॉक्टरों की एक पूरी टीम है। महत्वपूर्ण है कि साल 2009 में उनकी बाईपास सर्जरी भी हो चुकी है। बताया जा रहा है कि चिंता की कोई बात नहीं है। देश को आर्थिक संकट से निकालने वाले मनमोहन सिंह मई 2004 से लेकर मई 2014 तक यानी लगातार 10 साल तक प्रधानमंत्री रहे। प्रधानमंत्री बनने से पहले वे देश के सफल वित्तमंत्री रह चुके हैं नरसिम्हा राव के कार्यकाल में। वे आरबीआई के गवर्नर भी रह चुके है। आर्थिक दुनिया के वे वैश्विक जानकार हैं। साल 2008 में जब पूरे विश्व में आर्थिक मंदी का दौर चला तब वे अपनी कुशलता से उन्होंने देश को मंदी की दौर से निकाला और देश की व्यवस्था को मजबूती से बनाये रखा।

    Read more ...
  • प्रधानमंत्री मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की बैठक : लॉकडाउन में अचानक ढील नहीं। अर्थव्यवस्था को भी मजबूत करने पर बल।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com कोरोना वायरस के दुष्परिणाम को देखते हुए एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की और लॉकडाउन को बढाने या न बढाने को लेकर सबके विचारों से अवगत हुए। वीडियों कांफ्रेंसिग के जरिये हुए बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने 3 मई को लॉकडाउन समाप्त हो जायेगा इस पर साफ साफ कुछ भी नहीं कहा। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन से देश को लाभ हुआ है। दूसरे देशों से अपनी देश की तुलना करें तो भारत की स्थिति अपेक्षाकृत बेहतर है। लेकिन अब अर्थव्यवस्था को भी महत्व देनी होगी। - लॉकडाउन में अचानक ढील नहीं दी जायेगी। कोरोना के खिलाफ जो युद्ध है वह धैर्यपूर्वक लड़ना होगा। यह लंबी लड़ाई है। कई राज्यों ने लॉकडाउन बढाने का समर्थन किया। -जान और जहान दोनो का ख्याल रखना होगा। अर्थव्यवस्था पर भी ध्यान देने की जरूरत है। तकनीकी के अधिकतम इस्तेमाल की जरूरत है। - संकट अभी टला नहीं है। कुछ महीनों तक और रहेगा। तीन जोन में विभाजित होंगे क्षेत्र - रेड, ग्रीन और येलो। जो रेड जोन होगा उस क्षेत्र में लॉकडाउन पूरी तरह से जारी रहेगा। वहीं येलो जोन में स्थिति के अनुसार छुट दी जायेगी और जो क्षेत्र ग्रीन जोन के अंतर्गत आयेगा वहां पाबंदी पूरी तरह हटा ली जायेगी लेकिन सोसल दूरी के नियम लागू रहेंगे।

    Read more ...
  • कोविड प्रकरण : लॉकडाउन की अवधि 3 मई तक। कुछ इलाके में छुट लेकिन नियम टूटे तो परमिशन वापस - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

    टाइम्स खबर timeskhabar.com कोरोना वायरस अर्थात कोविड-19 का विस्तार तेजी से हो रहा है। इससे बचने के लिये अभी तक कोई दवाई नहीं है। सिर्फ एक ही रास्ता है कि एहतियात बरतें, घर पर रहे और सुरक्षित रहें। मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को फिर एक बार देश को संबोधित किया और लॉकडाउन की तिथि 3 मई तक के लिये बढा दी है। कुछ इलाकों में सशर्त छुट दी गई। आईये जानते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी ने आम जनता से क्या अपील की है : - कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई, बहुत मजबूती के साथ आगे बढ़ रही है। आपकी तपस्या, आपके त्याग की वजह से भारत अब तक,कोरोना से होने वाले नुकसान को काफी हद तक टालने में सफल रहा है। - मैं जानता हूं, आपको कितनी दिक्कते आई हैं। किसी को खाने की परेशानी, किसी को आने-जाने की परेशानी, कोई घर-परिवार से दूर है।लेकिन आप देश की खातिर, एक अनुशासित सिपाही की तरह अपने कर्तव्य निभा रहे हैं। हमारे संविधान में जिस We the People of India की शक्ति की बात कही गई है वो यही तो है। - बाबा साहेब डॉक्टर भीम राव आंबेडकर की जन्म जयंती पर, हम भारत के लोगों की तरफ से अपनी सामूहिक शक्ति का ये प्रदर्शन, ये संकल्प, उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि है। लॉकडाउन के इस समय में देश के लोग जिस तरह नियमों का पालन कर रहे हैं, जितने संयम से अपने घरों में रहकर त्योहार मना रहे हैं,वो बहुत प्रशंसनीय है।

    Read more ...
  •     
City4Net
Political