टीवी की दुनिया में ‘सत्यमेव जयते’ के साथ आगाज किया आमिर खान ने।

टीवी की दुनिया में ‘सत्यमेव जयते’ के साथ आगाज किया आमिर खान ने।

फिल्म स्टार आमिर खान का पहला टेलीविजन शो ‘सत्यमेव जयते’ ने 6 मई को सुबह 11 बजे जोरदार आगाज किया है। सत्यमेव जयते के पहली कड़ी में कन्या भ्रूण हत्या और बेटियों के प्रति नफरत के मुद्दे को उन्होंने जिस तरह से उठाया, इससे सारा सिस्टम एक बार जरूर हिल गया। इस पर लोग बहस करने लगे हैं। और जागरूता के अभियान में तेजी लाने के लिये जुड़ने लगे हैं। इस कार्यक्रम के लिये फिल्म स्टार आमिर खान और स्टार इंडिया के सीईओ उदय शंकर को धन्यवाद दिया जाना चाहिये।

यह कार्यक्रम स्टार इंडिया के स्टार प्लस समेत आधे दर्जन चैनल और दूरदर्शन पर एक साथ दिखाया गया। स्टार इंडिया के सीईओ उदय शंकर ने यहां पर पैसे को महत्व न देकर विषय को महत्व दिया। इसलिये स्टार इंडिया का यह कार्यक्रम दूरदर्शन पर दिखाया जा रहा है ताकि गांव के लोग भी इसे देख सके।

इस कार्यक्रम को देखने के लिये लोग 11 बजे से पहले ही टीवी पर नजर गड़ाये बैठे थे। आमिर ने कन्या भ्रूण हत्या के मुददे को इतने जोरदार तरीके से उठाया कि लोग टीवी के सामने बैठे रहे। डेढ घंटे के इस प्रोग्राम में एक सेकेंड भी हिलने का मौका नहीं दिया गया। लोगों के आंखो से आंसू बहते रहे।

आमिर ने कार्यक्रम के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि "मेरी अम्मी यहां नहीं थी। वह पुणे में थी। उन्हें शो पसंद आया और उन्होंने संदेश भेजा कि 'दिल पे लग गई और बात बन गई'। यह काफी खुशी की बात है कि उन्हें शो पसंद आया। मेरी आंखों में आंसू आ गए। मैं सचमुच काफी खुश हूं।"

उन्होंने कहा, "मैं अपनी पत्नी, शो तैयार करने वाली प्रमुख टीम और पुत्र आजाद के साथ शो देख रहा था।"उन्होंने कहा कि फिल्म जगत, ट्विटर तथा अन्य सभी ओर से उन्हें प्रशंसा मिली और यहां तक कि अधिक ट्रैफिक के कारण हमारा वेबसाइट जाम हो गया।

आमिर का डेढ़ घंटे का यह शो एक साथ स्टार प्लस तथा दूरदर्शन पर प्रदर्शित किया गया। उल्लेखनीय है कि यह पहला ऐसा कार्यक्रम है, जिसका प्रसारण एक निजी चैनल के साथ-साथ दूरदर्शन पर भी किया गया। इसके लिये सुबह ग्यारब बजे का समय चुना गया। आमिर का मानना था कि रविवार के दिन हीं रामायण और महाभारत जैसे सिरियल देखे जाते रहे हैं। यह ऐसा समय होता है जब पूरा परिवार एक साथ होता है।

बहरहला, इस शो को बनाने के लिये दो हस्तियों का प्रमुख योगदान है पहला स्टार इंडिया के प्रमुख उदय शंकर और बॉलीवुड के सुपर स्टार आमिर खान। कहा जा रहा है कि दोनो ही ने मिलकर टीवी की दुनिया मे एक नया इतिहास लिखना शुरू कर दिया है। आइये डालते हैं एक नजर उन महत्वपूर्ण बातों पर –

1. सत्यमेव जयते स्टार टीवी नेटवर्क और दूरदर्शन पर एक साथ - आज तक किसी निजी चैनल का कोई कार्यक्रम एक साथ अपने चैनल के साथ साथ दूरदर्शन पर नहीं दिखाया गया। लेकिन 6 मई को सुबह ग्यारह बजे स्टार टीवी का कार्यक्रम ‘सत्यमेव जयते’ स्टार टीवी नेटवर्क के अलावा दूरदर्शन पर भी दिखाया गया। इसके पीछे का कारण बताया जा रहा है कि यह कार्यक्रम समाज में जागरूकता फैलाने के लिये बनाया गया है। इसलिये इसका दायरा जितना अधिका होगा उतना ही इसका प्रभाव व्यापक स्तर पर होगा।

2. सत्यमेव जयते का प्रसारण कई भाषाओं में – इस शो का प्रसारण कई भाषाओं में हुआ। ताकि विभिन्न भाषा को जानने वाले लोग इससे जुड़े और राष्ट्र को बनाने में अपना योगदान दें।

3. सत्यमेव जयते का प्रसारण सुबह 11 बजे – आमतौर पर नये टीवी कार्याक्रम का प्रसारण रात में किया जाता है वह भी प्राईम टाइम में। प्राईम टाइम का अर्थ है रात आठ बजे से लेकर साढे नौ बजे तक। लेकिन स्टार नेटवर्क पर दिखाये जाने वाले शो सत्यमेव जयते का कार्यक्रम सुबह 11 बजे किया गया। इस बारे नई सोच के साथ आमिर का मानना है कि रविवार के दिन सुबह के समय लोग अपने घर पर होते हैं और पूरे परिवार के लोग इस कार्यक्रम को उस प्रकार देख सकेंगे जैसे सुबह के समय रामायण और महाभारत जैसे सिरियल देखा करते थे।

दो हस्तियो स्टार इंडया के सीईओ उदय शंकर और फिल्म स्टार आमिर खान के पूरी सहमति के बाद इसे तैयार किया गया है। इस शो के साथ ही आमिर खान ने छोटे पर्दे की दुनिया में कदम रख दिया। बताया जाता है कि छोटे पर्दे पर लंब समय तक काम करने के लिये फिल्म स्टार आमिर खान ने एक योजना बनाई है जो आने वाले दिनों में देखने को मिलेगा। सत्यमेव जयते अभी कई हफ्तों तक विभिन्न विषयों पर दिखाया जायेगा।