दाउद ने हमला करवाया अबू सलेम पर।

दाउद ने हमला करवाया अबू सलेम पर।

मुंबई। अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम पर नवी मुंबई के तलोबा जेल में जान लेवा हमला हुआ। जेल के अंदर ही उस पर फायरिंग की गई। गोली उसके हाथ में लगी। वह खतरे से बाहर है। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक अंडरवर्ल्ड के सबसे बडे डॉन दाउद इब्राहिम ने करवाया है। 27 जून की रात सात बजे के आसपास दूसरे कैदी जगदीश जगताप ने फायरिंग की। घायल सलेम को नवी मुंबई के हीं एमजीएम होस्पिटल में दाखिल कराया गया। इलाज के बाद सलेम को वापस जेल ले आया गया है। अबू सलेम 1993 मुंबई सीरियल ब्लास्ट का आरोपी है।

पुलिस सूत्रों का कहना है कि ये सुपारी देकर हमला कराने का मामला लगता है लेकिन पूरी सच्चाई जांच के बाद ही सामने आ पायेगी। सलेम को हाल ही में हाई  सिक्युरिटी वाले अंडा सेल से जनरल बैरक में शिफ्ट किया गया था। बताया जाता है कि किसी बात पर सलेम और जगताप के बीच कहासुनी हुई और उसी में जगताप ने फायरिंग कर दी।

लेकिन यहां दो सवाल उठते हैं पहला जेल के अंदर हथियार कैसे पहुंचे? दूसरा जब डी कंपनी के छोटा शकील ने इस हमले की जिम्मेवारी ली तो ऐसे में साफ है कि दोनो के बीच जो झगड़ा हुआ सुनियोजित था।

बहरहाल अबू सलेम पर हमला करने वाला देवेंद्र जगताप को हत्या की कोशिस के आरोप में नवी मुंबई पुलिस ने हिरास्त में ले लिया है। जगदीश मुंबई के मुलूंड का रहने वाला है।  वह 2010 ले चेंबूर में छोटा राजन गिरोह के फरीद तनाशा की हत्या के आरोप में जेल जेल में बंद है। उस पर करीब आधा दर्जन वारदात में शामिल होने का आरोप है। बताया जाता है कि उसने अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन गिरोह के सात अंडरवर्ल्ड में एंट्री की थी। लेकिन बाद में छोटा राजन गिरोह को छोड़ दिया।

 यह दूसरा मौका है जब अबू सलेम पर हमला किया गया। इससे पहले मुंबई के आर्थर रोड जेल में उसपर दाउद गैंग से जुड़े मुस्तफा दौसा ने

हमला किया गया था। इसके बाद ही उसे नवीं मुंबई स्थित तलोजा जेल

शिफ्ट किया गया। अबू सलेम को साल 2002 में पुर्तगाल में गिरफ्तार

किया गया था और साल 2005 में भारत लाया गया।