पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री शरीफ ने माना कि मुंबई हमले में हाथ था पाकिस्तानी आतंकवादियों का।

1
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री शरीफ ने माना कि मुंबई हमले में हाथ था पाकिस्तानी आतंकवादियों का।

आखिरकार पाकिस्तान पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीब ने मान ही लिया कि मुंबई हमले में पाकिस्तानी आतंकवादियों का हाथ था। यही बात भारत हमेशा सबूत के साथ कहता रहा है लेकिन पाकिस्तान भारतीय सबूत को मानने के लिये तैयार नहीं था। शरीफ़ के बयान भारत के गृह राज्यमंत्री हंसराज अहिर ने कहा है कि हम हमेशा से ये कहते रहे हैं जो पूर्व पीएम ने अब क़बूला है। उम्मीद है कि वहां कि मौजूदा सरकार आतंकवाद रोकने के कारगर क़दम उठाएगी।  हाफ़िज़ सईद मुंबई हमले का मास्टरमाइंड है, भारत इसके तमाम सबूत पाक को पेश कर चुका है। पर उसे और उसके साथियों को अब तक सज़ा नहीं मिली है।

पाकिस्‍तान के बेदखल प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने शनिवार को यह कबूल किया कि 2008 में मुंबई पर हुए 26/11 के आतंकी हमले को पाकिस्‍तानी आतंकियों ने ही अंजाम दिया था। डॉन अखबार को दिए इंटरव्‍यू में उन्‍होंने यह बात मानी। अखबार के अनुसार नवाज ने कहा- आतंकी संगठन सक्रीय हैं। नॉन स्‍टेट एक्‍टर्स कह कर क्‍या हम उन्‍हें सीमा लांघ कर मुंबई में 150 लोगों की जान लेने की इजाजत देनी चाहिए? मुझे बताएं। हम मामले की सुनवाई पूरी क्‍यों नहीं कर सकते?

भारत लंबे समय से आरोप लगाता रहा है कि पाकिस्‍तान के आतंकी संगठन लश्‍कर-ए-तैयबा ने ही 26 नवंबर 2008 को मुंबई पर हुए आतंकी हमले को अंजाम दिया था जिसमें 166 लोग मारे गए थे। पीठ पर बैग लिए स्‍वचालित हथियारों और ग्रेनेड लॉन्‍चरों से लैस 10 आतंकियों ने एक साथ मुंबई की कई जगहों पर हमला किया था। तीन दिन की मशक्‍कत के बाद 9 आतंकी मार गिराए गए थे जबकि एक को जिंदा पकड़ा गया था।

इंटरव्यू में पूर्व पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पाकिस्तान में चल रहे 26/11 केस का ट्रायल पूरा न होने पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि आतंकियों का समर्थन करने के कारण पाकिस्तान दुनिया में अलग-थलग पड़ गया है। गौरतलब है कि अभी तक पाकिस्तान कहता था कि मुंबई आतंकी हमले को नॉन स्टेट एक्टर्स ने अंजाम दिया है, लेकिन उसकी सरकार की कोई भूमिका नहीं है। नवाज शरीफ के कबूलनामे से पाकिस्तान एक बार फिर दुनिया के सामने बेनकाब हो गया है। पाकिस्तान सरकार का आतंकियों के साथ गठजोड़ सबके सामने आ गया है।

पाकिस्तान में भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा- अगर देश में दो या तीन समांतर सरकारें हों, तो देश को नहीं चलाया जा सकता है। इसको रोकना होगा। देश में सिर्फ एक ही सरकार हो, जो संवैधानिक प्रक्रिया से चुनी गई हो।

पाकिस्तान की रावलपिंडी एंटी-टेरोरिस्ट कोर्ट में मुंबई हमले मामले की सुनवाई बंद करने का जिक्र करते हुए नवाज शरीफ ने कहा, ''हमने मुंबई हमले मामले की सुनवाई क्यों नहीं पूरी की?'' इंटरव्यू में नवाज शरीफ ने यह भी साफ तौर पर माना कि पाकिस्तान में आतंकी सक्रिय हैं और पनाह पाते हैं। इससे पहले भारत काफी समय से यह बात कहता आ रहा है कि पाकिस्तान आतंकी की पनाहगाह है, लेकिन वो इस बात से इनकार करता रहा है। अब पाकिस्तान की पोल उसके पूर्व प्रधानमंत्री ने ही खोल दी है। (विभिन्न समाचार माध्यमों से साभार)