बीजेपी रथ को रोकने का संकल्प झामुमो महाधिवेशन में - पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन।

1
बीजेपी रथ को रोकने का संकल्प झामुमो महाधिवेशन में - पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन।

मैथन धनबाद(टाइम्स ख़बर)। झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन(गुरूजी) और हेमंत सोरेन एक बार फिर क्रमश: राष्ट्रीय अध्यक्ष व कार्यकारी अध्यक्ष चुने गये। दोनो ही पार्टी लीडर सर्वसम्मति से चुने गये हैं। धनबाद जिले के मैथन में तीन दिनों तक चले अधिवेशन में पार्टी की मजबूती और चुनाव में बीजेपी को हराने पर चर्चा होती रही। 

मैथन के विनोद बिहारी प्रागंन में हुए इस महाधिवेशन में दोनो ही नेताओं को केंद्रीय कार्यकारिणी के अन्य पदाधिकारियों के चयन के लिये अधिकृत किया गया है। एक नजर उन महत्वपूर्ण प्रस्ताव पर जो महाधिवेशन में पारित किये गये - 

- बीजेपी को रोकने के लिये झामुमो ने समानविचार धारा वाले दलों के साथ महागठबंधन को हरी झंडी दिखाई। 

- कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरने मुख्यमंत्री उम्मीदवार होंगे। सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित।

- बीजेपी विरोधी वोटो को एक मंच पर लाने की चुनौती। इस चुनौती को स्वीकार किया गया।

- झामुमो को और मजबूत करने पर विचार। समान विचार धारा वाले पार्टियों के साथ समन्वय पर बल।

- बीजेपी के खिलाफ आक्रमक होकर जनता के बीच जाने का संकल्प।

- साल 2019 के चुनाव यानी लोकसभा चुनाव के लिये तैयार रहने का आहवान।

- जल-जंगल-जमीन की रक्षा के लिये प्रतिबद्ध।

झारखंड में युवाओं के बीच चहेते बन कर उभरे हेमंत सोरेन ने कार्यकर्ताओं को पार्टी का मूलमंत्र बताते हुए जागरूक और सावधान रहने का आग्रह किया। उन्होने कहा कि बीजेपी के लोग मुद्दे को भटका सकते हैं। वे ऐसा करते आये हैं। कर्नाटक विधान सभा चुनाव में बीजेपी के लोगो ने जिन्ना का मुद्दा उठा कर मुख्य मुद्दे से भटकाने की कोशिश की। उसी प्रकार झारखंड मे भी बीजेपी दंगा करवा सकती है जैसा की बिहार, यूपी और एमपी में माहौल है। 

पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आशंका व्यक्त किया  है कि बीजेपी-आरएसएस के लोग पुलिस की मदद से दंगा करवा सकते हैं। जाति-धर्म के नाम पर लोगो को बांटने का काम किया जा सकता है। बीजेपी कुछ भी कर सकती है। उन्होने लोगो से आग्रह किया है कि भगवाधारी लोगो को गांव में घुसने न दिया जाये।