उदय शंकर के नेतृत्व में नये भारत का उदय।

उदय शंकर के नेतृत्व में नये भारत का उदय।

स्टार प्लस पर दिखाये जाने वाले कार्यक्रम सत्यमेव जयतेने भारत में एकसाइलेंट क्रांति का आगाज कर दिया है। इस कार्यक्रम ने देश के हर नागरिक को अपनेकर्तव्य के प्रति जागरुक होने का अहसास दिलाया। इसका इतना अधिक प्रभाव पड़ा कि देशके इतिहास में पहली बार, किसी धारावाहिक पर, प्रधानमंत्री से लेकर एक आम आदमी तकचर्चा करते दिखे। इसके लिये स्टार इंडिया के सीईओ उदय शंकर और फिल्म स्टार आमिर खानधन्यवाद के हकदार हैं।स्टार इंडिया के सीईओ उदय शंकर की देश और समाज के प्रति सकारात्मक सोच को पूरे देश ने सराहा।


सत्यमेव जयते को कैसे सफल बनाया स्टार इंडिया के सीईओ उदय शंकर ने

 टेलीविजन की दुनिया दो हिस्सों में बंटी हुई हैपहला समाचार और दूसरा मनोरंजन। और दोनो हीं दुनिया में आज श्री उदय शंकर से बड़ा कोई नामनहीं है। वे  आज स्टार इंडिया के सीईओ हैं। इससे पहले वे सफल पत्रकार व संपादक  रह चुकेहैं। उनके नेतृत्व में सत्यमेव जयते ने लोकप्रियता के मामले में सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये।  फिल्म स्टार अमिताभ बच्चन के एंकरिंगमें कौन बनेगा करोड़पतिजैसा लोकप्रिय कार्यक्रम भी सत्यमेव जयते की लोकप्रियताके सामने काफी छोटा दिखने लगा। एक नजर स्टार इंडिया के सीईओ उदय शंकर के दूरदृष्टिपर -


1.
वे हमेशा देश और समाज को सही दिशा में ले जाने के लिये प्रयत्नशीलरहे।
2.
उन्होंने सत्यमेव जयते के विषय को चयन करने में, काफी मेहनत की औरसकारात्मक दृष्टि अपनाया।
3.
देश और समाज से जुड़े मुद्दों पर आधारित सत्यमेवजयते को, स्टार इंडिया के स्टार प्लस समेत आधा दर्जन से उपर चैनल्स में दिखाने कीरही झंडी दी।
4.
इतना हीं नहीं अपने लोकप्रिय धारावाहिक सत्यमेव जयते को आमदनीका जरिया नहीं बनाया। उन्होंने विषय के महत्व को अधिक महत्व दिया।
5.
देश औरसमाज को जोड़ने वाले इस कार्यक्रम को उन्होंने दूरदर्शन पर भी दिखाने की हरी झंडीदी। दूर्रदर्शन पर जो सत्यमेव जयते दिखाये गये उसका कॉमर्शियल लाभ भी स्टार इंडियाने नहीं लिया बल्कि वह लाभ दूरदर्शन के खाते में गया।
6.
बताया जाता है किदूरदर्शन पर बिना कॉमर्शियल लाभ के दिखाने के पीछे उदय शंकर की सोच बेहद सकारात्मथी। वे चाहते थे कि देश और समाज को जोड़ने वाले इस कार्यक्रम को पूरा देश देखे।इसलिये उन्होंने कॉमर्शियल की परवाह नहीं की। उनका यह फैसला अदम्य साहस भरा था।शायद हीं किसी कंपनी का सीईओ ऐसा फैसला कर सके।
7.
सफल पत्रकार रहे उदय शंकर नेमनोरंजन टीवी दुनिया की परिभाषा हीं बदल दी। उन्होंने यह कर दिखाया कि मनोरंजन कीदुनिया में भी रहकर देश और समाज को आगे बढाने के लिये बहुत कुछ किया जा सकता हैबर्शते सही सोच और नजरिया हो। सत्यमेव जयते इसका सबसे ताजा और बड़ा उदाहरणहै।

स्टार इंडिया के सीईओ उदय शंकर ने बतौर रिपोर्टर अपनी कैरियर की शुरूआतकी थी। इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा। वे न्यूज चैनल आजतक और स्टारन्यूज को सफलतापूर्वक हेड कर चुके हैं। एडिटर-इन-चीफ रह चुके हैं।

 बहरहाल उनके नेतृत्व मेंसत्यमेव जयतेने देश और समाज को उस सच्चाई से रूबरू कराया जिसे काला सच मानकर देशकी आधी आबादी ने अपने सीने में दबा रखा था लेकिन सत्यमेव जयते के प्रसारण के बादलोग देश और समाज में फैली बुराईयों को दूर करने और एक स्वस्थ्य भारत बनाने के लियेखुलकर सामने आने लगे हैं।


बहरहाल, स्टार इंडिया के सीईओ उदय शंकर ने एकस्वस्थ्य भारत बनाने की ओर ठोस कदम के साथ आगाज कर दिया है। आप कह सकते हैं कि बंदेमेंहै दम, बंदे मातरम्।